Continue Reading निगाहें
Posted in Hindi Romantic

निगाहें

कैसे कह दूँ , क्या है मेरे इस दिल में , कहूँ भी न और तुम समझ जाओ। बिना मिले , बिना देखे , बिना सुने मेरी साँसे पढ़ जाओ। कभी किसी से कहा नहीं पर तुमसे कहना चाहता हूँ। पता नहीं तुम समझोगी या नहीं ?

Continue Reading भेंट
Posted in Hindi Love Story

भेंट

तुमने मेरे अंदर कॉफ़ी शॉप में जाने के लिए दरवाज़ा खोला । तुम्हारी कातिलाना मुस्कान, जो की तुम मुझे बार बार मार रहे थे । बोलते हुए तुम्हारे गालों पर डिंपल पड़ रहे थे , मैं तुम्हे देखकर हैरान थी । ऐसा सुन्दर चेहरा, कैसे कोई नहीं रीझा तुम पर या ये कोई चाल है ?

Continue Reading अपराजिता
Posted in Hindi

अपराजिता

तुम्हारे मेरे मिलने का सिलसिला चलता रहा, मेरी शामें हसीन और रातें रंगीन हो गयी । हर सुबह तुम्हारा चेहरा देखे बिना लगता ही नहीं था जैसे सवेरा हुआ हो । तुम्हें अपने आगोश में भर कर, तुम्हारे होठों को छू कर मेरी हर सुबह में तुमने अपनी रूह की जो महक मेरे मन में छोड़ दी थी

Continue Reading खुशी
Posted in Hindi Story

खुशी

इंदु सास की मन से सेवा करती फिर भी दिल नहीं जीत पायी । उनके लिए उनकी प्यारी बहु सुमित्रा ही थी । कई साल गुज़र गए । बच्चे बड़े होने लगे । इंदु को अब अपने खून की कमी खलने लगी । कभी कभी दिल बहलाने के लिए बच्चों को ममता भरी नज़रों से देख लेती थी ।

Continue Reading सिफारिश
Posted in Hindi Sad Story

सिफारिश

क्या जानती थी वो भी की उन दोनों की आखिरी मुलाक़ात अंतिम मुलाक़ात बन जाएगी । जीवन भर के प्यार की कसमें झूठी सिद्ध हो जाएँगी । उम्र भर साथ निभाने का वादा अधूरा रह जाएगा । हर एक प्रेम कहानी की तरह इसका भी यूँ ही अंत हो जाएगा । प्रेम की मंज़िल के करीब आकर यूँ जुदाई और बिछड़के केवल एक गुज़रा हुआ अतीत रह जाएगा ।

Continue Reading अंतर्द्वंद
Posted in Hindi Love Sad

अंतर्द्वंद

तुम्हारी हाँ सुनने के बाद सातवें आसमान पर था मैं । प्यार हो गया था तुमसे । जानता ही नहीं था ऐसा भी होता है प्यार में, न दिन न रात न सुबह न शाम कुछ नहीं कटता । तुम्हें देखे बिना मैं रह नहीं पाता था । थोड़ी सी भी दूरी सहन नहीं होती थी । हर पल, हर वक़्त बस तेरे संग रहने को तड़पता रहता था । तुम्हारी आवाज़ जैसे मेरा संगीत , कुछ और नहीं सुहाता था । जाने कैसा नशा सा था, बेसब्री , बेहद और बेहताशा इश्क़ ।

Continue Reading निःशब्द
Posted in Hindi Sad

निःशब्द

मेरे पास शब्द नहीं थे, कैसे कोई समझ सकता है किसी दिलदार के जाने का दुःख । इस दुनिया में इससे बड़ा कोई दुःख नहीं । मैं किससे कहता अपने दिल की बात, मुझे तुम ही चाहिए थी ये बताने को की कितना अधूरा हूँ मैं तुम्हारे बिना, आ जाओ वापस मेरे पास, कह दो ये एक झूठा सपना था ।

Continue Reading ख़त
Posted in Hindi Poetry Sad

ख़त

एक तरफ़ा मोहब्बत की दर्द ऐ दास्तान ।

Continue Reading समन्वय
Posted in Hindi Story

समन्वय

मुँह से सिगरेट का धुआँ छोड़ते हुए , तुम्हारी हँसी , कुछ अनायास सा ही मैं खींच सा गया तुम्हारी ओर । तुम सिगरेट और चाय पीने अक्सर आया करती थी । कुछ तो था तुम्हारे अंदर, जो औरों में नहीं था । एक नयापन, ज़िंदगी में कुछ अलग करने का जज़्बा, सब कुछ कर जाने की चाहत, कहीं भी न रुकने की आदत, गज़ब का जूनून । मैं भी फीका सा लगता था तुम्हारे आगे ।

Continue Reading सुकून
Posted in Hindi Story

सुकून

निमृत मैडम और हमारे चर्चे हुआ करते थे । सभी को लगता था निमृत मैडम हम पर फ़िदा हैं , क्या करें अब चीज़ ही ऐसी हैं हम, इतिहास के टीचर और शायर, कौन दूर रहेगा हमसे भला , खाना पकवान सब सही बना लेते थे , नित्य ही खिलाया करते थे सभी को, सौम्या मैडम को छोड़ कर ।